देवरी

कोरोना संकट को लेकर विधायक ने विभाग प्रमुखों की ली बैठक


पेयजल संकट, गेंहु उपार्जन, राशन वितरण पर भी हुई चर्चा

देवरी– प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री एवं क्षेत्रीय विधायक हर्ष यादव ने कोरोना संकट
को लेकर स्थानीय कृषि उपज मण्डी हाल में प्रमुख विभागों के अधिकारियों की बैठक
लेकर मौजूदा व्यवस्थाओं की समीक्षा, संसाधनों की कमी सहित आगामी तैयारियों
पर चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिये। बैठक में ग्रीष्मकालीन पेयजल संकट से निपटने
की तैयारियों, समर्थन मूल्य खरीद कार्यक्रम एवं कोराना संकट में सरकारी राशन के
वितरण पर चर्चा कर व्यवस्था में सुधार के निर्देश दिये गये। बैठक में राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य, विद्युत, पी एच ई, जल संसाधन, जनपद, शिक्षा विभाग के अलावा अन्य प्रमुख
विभागों के अधिकारीयों से प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं क्षेत्रीय विधायक हर्ष यादव ने
बिंदुवार चर्चा की एवं कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए आगामी रणनीति बनाने पर विचार
किया। उन्होने आगाह किया कि आगामी समय चुनौती पूर्ण न हो इसके लिए जरूरी कदम
उठाये जाना चाहिए। श्री यादव ने कहा कि वर्षाकाल में स्थिति की निगरानी के लिए सतत
मानीटरिंग व्यवस्था बनाये जाने की आवश्यकता है। साथ ही आवश्यक संसाधनों पर
विचार किया जाना चाहिए उन्हानें स्वास्थ विभाग से मौजूदा संसाधनों की उपलब्धता
की जानकारी ली एवं विभागीय अधिकारियों से देवरी एवं केसली स्वास्थ केन्द्र में
विधायक निधि मद से वेंटीलेटर मशीन स्थापित करने हेतु आवश्यक व्यवस्थाऐं बनाये
जाने संबंधी प्रस्ताव एवं उच्च अधिकारियों से दिशा निर्देश प्राप्त करने को कहा। साथ ही
दोनो स्वास्थ केन्द्रों के जमीनी अमले के लिए स्केनर, मास्क सहित सेनेटाइजर मशीन
विधायक निधि से क्रय करने हेतु प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि
शासन द्वारा जारी गाइड लाइन पर व्यापक स्तर पर कार्य करने के लिए आवश्यकता है।
जिस प्रकार से क्षेत्र में सभी विभागों के अधिकारी, कर्मचारी एवं समाजसेवी आफसी समन्वय
बनाकर अब तक कोरोना संकट में कार्य कर रहे है वह सराहनीय है। यह मुहिम आगे भी
जारी रखे जब तक के कोरोना संकट दूर नहीं होता। उन्होने अधिकारियों से लॉकडाउन के
पालन को लेकर तैयारियों पर चर्चा की साथ गणमान्य नागरिकों एवं कृषकों से नरमी
बरते जाने की बात कही। उन्होने कोराना संकट में जरूरत मंदों के लिए सरकारी राशन
वितरण कार्यक्रम की निगरानी करने के निर्देश दिये ताकि गरीब व्यक्तियों को लाभ मिल सके।
उन्होने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में शासन द्वारा चलाये जा रहे मनरेगा कार्यक्रम का लाभ
मजदूरों को ही मिले इसमें मशीन पर कार्य कराने जाने पर सख्त कार्रवाई की जाये।
ग्रीष्मकालीन पेयजल तैयारियों पर चर्चा करते हुए उन्होने पीएचई विभाग को निर्देशित किया
कि वह ग्रामवार रिर्पोट तैयार करे ताकि पेयजल व्यवस्था सुनिश्चत हो हेंडपंपों का सुधार
करवाये, बंद पड़ी नलजल योजनाओं को अबिलंब आरंभ कराया जाये। जल संसाधन
विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह जलाशयों का निरीक्षण करे एवं
पानी के स्तर की सतत निगरानी करें ताकि आवश्यकता होने पर उसका उपयोग संभव हो।
विद्युत कटौती को लेकर श्री यादव ने नाराजगी व्यक्त करते हुए विभागीय अधिकारियों को
पर्याप्त विद्युत आपूर्ति के निर्देश दिये साथ ही आगाह किया कि कोराना संकट के चलते
विद्युत बकाया वसूली में जोर जबरदस्ती न की जाये, लोग परेशान है व्यवसाय बंद है
विद्युत बिलों एवं पंप कनेक्शनों के बिलों की वसूली में नरमी बरते। विद्युत लाईनों का तत्काल मेंटनेंस कराये ताकि वर्षाकाल में लोगों को परेशानियों का सामना न करना पड़े।बैठक में एसडीएम आर.के. पटैल ने सरकारी निर्देशों एवं प्रशासन द्वारा उठाये गये कदमों की जानकारी दी। अन्य विभागों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

त्रिवेंद्र जाट (देवरी)🖋

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: