Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

पुलिस का मनोबल बढ़ाने आम लोग आए सड़कों पर

0 25

शहर में जुआ सट्टा ओर शराब के मामले मे पुलिस प्रशासन की होने वाली कार्रवाइयों को लेकर आम तौर पर शहर की जनता में पुलिस प्रशासन की कारवाई को लेकर कही न कही एक अलग धारणा नजर आती है जहाँ ज्यादातर मामलों मे उसके द्वारा की ग ई कारवाई पर सावलिया निशान भी लगता है ओर इसका विरोध भी राजनीतिक जन आंदोलन के रुप मे दिखाई देता है जिसका प्रभाव भी पुलिस की कार्यप्रणाली पर पड़ता है ओर कार्य मे लापरवाही बरतने पर पुलिसकर्मियो पर अनुशासन हीनता का डंडा भी चलता है जिसके चलते पुलिस के प्रति समाज मे नकारात्मक छवि बनती है तो पुलिसकर्मी के मनोबल पर भी असर पडता है पर उसी पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली पर जब आम जनता उसकी कारवाई का समर्थन कर सडको पर उतार आए

ऎसा कम ही दिखाई देता है ओर जिसकी उम्मीद शायद पुलिस प्रशासन को भी कम ही होती है ऎसा ही एक मामला सागर मे उस वक्त सामने आया जहाँ पिछले कुछ माह से शहर के अलग अलग थाना क्षेत्रो मे तैनात पुलिसकर्मियो द्वारा क्षेत्र मे अवैध जुआ सट्टा ओर शराब पर अंकुश लगाए जाने के उद्देश्य से की जाने वाली कारवाई के समर्थन मे अहिरवार महा पंचायत समाज के साथ अजाक्स संध के लोग खुलकर पुलिस कारवाई के पक्ष मे उतार आए जहां उन्होंने इस मामले मे एस पी कार्यालय पहुंच कर संगठन के बैनरतलै पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौपा ओर पुलिस प्रशासन के द्वारा अपराधों के नियंत्रण के उदेश्य से की जाने वाली कारवाई पर सही ठहराते हुए इसे यथावत जारी रखने की आवाज़ उठाई तो वही ज्ञापन के माध्यम से पुलिस की कारवाई से अपराधियो मे बने खौफ के महौल के कारण कतिपय लोगो द्वारा गलत तरीके से पुलिस की कारवाई पर सवाल खड़ा कर राजनैतिक दबाब बना कारवाई प्रभावित करने की कोशिश के तहत कुछ पुलिसकर्मियो के खिलाफ दुष्प्रचार कर उन्हे हटाने की कोशिश के तहत दबाव बनाने पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया करते हुए ऎसे मामलों मे पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी से कोई निर्णय लेने से पहले क्षेत्र के आम नागरिकों से भी जानकारी जुटा कारवाई करने की गुहार लगाई मामले मे ज्ञापन देने पहुँचे समाज के सदस्यों के मुताबित बीते कुछ दिनो से जो कारवाई विभिन्न थाना क्षेत्र मे थाना प्रभारियो द्वारा की जा रही है उससे शहरवासियो मे पुलिस के कार्यप्रणाली के प्रति एक न ई सकारात्मक सोच का महौल बनता नज़र आ रहा है तो वही अपराधो पर अंकुश लगने से क्षेत्र की कानून व्यवस्था मे भी सुधार हुआ है ऎसे मे इन अपराधो को संचालित करने वालो मे पुलिस कारवाई से भय का महौल बना हुआ है ओर वह अब इस मामले मे राजनैतिक दलों से जुडे कतिपय लोगो का सहयोग लेकर पुलिस की इस कार्रवाई को रोकने के प्रयास मे जुट ग ए है जिसको लेकर झूठे आरोपो के आधार पर थाना प्रभारी को हटाने की कवायद की जा रही है इन लोगों की माने तो जब भी किसी पुलिस अधिकारी ने अपने साहस के बल पर शराब जुआ ओर सट्टा को रोकने की कोशिश की है उसे इस कारोबार से जुडे लोगो द्वारा निशाना बनाते हुए राजनैतिक हस्तक्षेप का सहारा लेकर हटा दिया जाता है जिससे जहाँ आम नागरिकों को ऎसे अपराध के कारण होने वाली परेशानी से निजात नही मिल पा रहा तो वही अपराध का ग्राफ भी बढ रहा जिसके चलते वह सभी पुलिस की कारवाई के समर्थन मे आगे आए है जिससे अपराधो पर अंकुश लग सके ओर शांति व्यवस्था भी बनी रहे तो वही इस मामले मे एसपी के मुताबित किसी भी अधिकारी के खिलाफ राजनैतिक दबाब के तहत कोई कारवाई नही होती जिस व्यवस्था की कमान उन्हे सौपी जाती है उसमे लापरवाही पर ही विभाग कारवाई करता है उन्होंने सभी लोगो को बिना किसी दबाब के अपराधो के नियंत्रण के लिए हर संभव कदम उठाए जाने का भरोसा भी दिया इस अवसर पर बड़ी संख्या मे अहिरवार महापंचायत के बैनरतलै समाज जन ज्ञापन देने पहुँचे अब देखना होगा अवैध धंधों पर कार्यवाही करने वाले पुलिस वालों पर कार्यवाही होती है या सरकार सहयोग करती है वैसे भी एक दिवसीय कार्यक्रम में आए गृहमंत्री कह चुके हैं यह कमलनाथ की सरकार है जहां किसी अपराधी की कोई जगह नहीं है पुलिस पूरे पावर में काम करेगी बिना किसी दबाव के !

0
0
Leave A Reply

Your email address will not be published.