देवरी

वन भूमि पर काबिज आदिवासी किसानों को बन बिभाग के अधिकारियो ने बर्बरता पूर्वक किया बेदखल


आदिवासी किसानो ने लागई न्याय की गुहार एसडीएम को दिया ज्ञापन।

देवरी – वन भूमि पर वर्षो से काबिज आदिवासी समुदाय के लोगो को साशन की मंशा अनुसार वन अधिकार का पट्टा दिए जाने हेतु योजना लागू की गई है। जिसमे उक्त वन भूमि पर आदिवासी किसान का कब्ज़ा सन 2005 के पूर्व का होना पात्रता की सेरेणी में मना जायेगा ऐसे पात्र आदिवासी किसानों को वन अधिकार पट्टा दिए जाने के उद्देश्य को लेकर साशन द्वारा किसानों की काबिज भूमि का सत्यापन कराये जाने के दिशा निर्देश जारी किये गए। साशन की मंशा अनुसार आदिवासी हितग्रही मूलक योजना का लाभ पात्र व्यक्तियो को नहीं मिल पा रहा है।
योजनाओं की जानकारी से अंजान एवं क़ानूनी दाव पेंच से वेखबर, अशिक्षित आदिवासी समुदाय के लोग न्याय की गुहार लगाने और अपना अधिकार मांगने सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगा रहे है।
ऐसा ही एक मामला सागर जिले की देवरी क्षेत्र में देखने को मिल रहा है। जहाँ क्षेत्र के करीब एक दर्जन आदिवासी समुदाय के लोग जो ग्राम पंचायत मसूरवावरी के भड़ भड़ टोला के निवासी है। जिनके पास अपने पूर्वजों के समय काबिज की गई वन भूमि पर किसानी का कार्य करते आ रहे है। जिन्हें आज तक उक्त भूमि का ना तो पट्टा दिया गया और ना ही उन्हें काबिज दार मना गया। बताया जा रहा है की वन भूमि पर वर्षो से काबिज आदिवासी किसानों को कब्जे से बेदखल करने वन विभाग के अधिकारियो और कर्मचारियो द्वारा कार्यवही की गई। जिसके संबंध में भड़ भड़ भीलईयां टोला मसूरबावरी के करीब एक दर्जन आदिवासी किसानों ने मुख्यमंत्री एवं कलेक्टर महोदय के नाम देवरी अनुविभागीय अधिकारी एसडीएम आर के पटेल को ज्ञापन देकर न्याय की गुहार लगाई है

दिए गए ज्ञापन में वन भूमि पर काबिज किसानों के साथ वन विभाग के गौरझामर रेंज के अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा विगत दिनों सभी किसानों को उक्त भूमि से बेदखल करने के लिए कार्रवाई की गई जिसमें खेत पर बने झोपड़ी मैं आग लगा दी गई एवं किसानी का सामान एवं घर गृहस्ती का सामान उठाकर ले गए साथ ही छोटे-छोटे बच्चों एवं महिलाओं के कपड़े एवं खाने-पीने के सामान को भी उठा कर ले गए और किसानों द्वारा ज्ञापन में आरोप लगाते हुए यह भी कहा गया की बरसात का मौसम शुरू होने वाला है और ऐसे में उनके पास रहने के लिए अब जगह भी नहीं है खुले आसमान के नीचे रहने के लिए मजबूर है। किसानों द्वारा शासन से गुहार लगाते हुए उक्त काबिज भूमि का पट्टा दिए जाने की मांग की गई है।

फॉरेस्ट एसडीओ प्रमोद सिंह
दक्षिण वन मंडल देवरी
इस संबंध में दक्षिण बन मंडल अधिकारी एसडीओ प्रमोद सिंह का कहना है कि ग्राम पंचायत मसूरबावरी के भड़ भड़ टोला भिलईयं वीट में कुछ लोगो के द्वरा वन भूमि पर नया कब्ज़ा किया जा रहा था। जिसकी सूचना प्राप्त होने पर गौरझामर रेंज के अधिकारियो द्वरा कब्ज़ा हटाये जाने की कार्यवाही की गई है। इस संबंध में सम्बंधित रेंज से पूरी जानकारी मांगी गई है।

अनुविभागीय अधिकारी
एसडीएम आरके पटेल देवरी
मसूरबावरी ग्राम पंचायत के भड़ भड़ टोला निवासी आदिवासी किसान आज ज्ञापन देने आए हैं जिनके द्वारा वन विभाग की भूमि पर कब्जा किए जाने के संबंध में किसानों को वन विभाग के अधिकारियों द्वारा बेदखल करने की कार्रवाई की गई है जिस के संबंध ज्ञापन किया गया है और मेरे द्वारा कलेक्टर महोदय के माध्यम से है ज्ञापन की प्रति भोपाल मध्यप्रदेश शासन के लिए भेजी जा रही है एवं आवश्यक कार्रवाई के लिए ज्ञापन की एक प्रति फारेस्ट विभाग के एसडीओ के लिए भेजी जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: