देवरी

राशन दुकानो पर चल रहा फर्जीबाडा

प्रशासनिक अधिकारी बने मौन

सागर/देवरी – केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा गरीब निर्धन लोगो के लिये भरण पोषण के लिये शासन से राशन बितरित करने के लिये राशन दुकानो को खोला गया है व दुकान चलाने वाले विक्रेताओ को सख्त निर्देश भी दिये गये है कि अब उपभोक्ताओ को जो राशन फिंगर मशीनो से स्कैन करके दिया जा रहा है उस मै उपभोक्ता को राशन मिलने पर उस राशन की रेट बजन अनुसार पावती रसीद के तौर पर दी जाना जरूरी है मगर केन्द्र व राज्य शासन के नियमो की तो अधिकतर विक्रेता धज्जीयां उडाते हुये नजर आ रहे है अधिकतर दुकानो के उपभोक्ता ने बताया कि उन को पावती पर्ची नही दी जाती है न ही रेट लिस्ट दिखाई जाती है बिक्रेताओ द्वारा उपभोक्ता के परिवार के 10 सदस्य की जगह 6 सदस्य का राशन दिया जाता है जानकारी से पता लगा कि शासन द्वारा विक्रेता को यदि दो माह का राशन आवंटन होता है तो उसमे से एक माह का बस राशन वाटा जाता है एक माह का सीधा गवन किया जाता है वर्तमान जानकारी अनुसार उपभोक्ताओ ने बताया कि जून माह का चावल स्टाक मै रखा गया है बाटा नही गया है साथ ही बताया गया कि अभी प्रशासन के द्वारा सर्वे अनुसार अपात्र नामो को काटा गया है उनका राशन दुकानो मै स्टाक आ चुका है फिर भी नही दिया गया यदि नही दिया गया तो वो राशन कहाँ जायेगा ऐसी कई लापरवाहीयॉ हो रही है मगर प्रशासनिक अधिकारी चुप्पी साध के वैठे है न राशन दुकानो का संबंधित अधिकारी द्वारा निरीक्षण किया जाता है न ही जांच उपरांत कोई कार्यवाही इसी का नतीजा है खुले तौर पर राशन दुकानो मै हो रहा है फर्जीवाड़ा

त्रिवेंद्र जाट ( देवरी ) 🖋️

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: