Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

राम मंदिर भूमि पूजन पर राहुल गांधी ने किया ट्वीट, बोले ‘राम प्रेम हैं, राम करुणा हैं, राम न्याय हैं’

2

नई दिल्ली- अयोध्या में करीब 500 वर्षों बाद भगवान राम की जन्म स्थली पर भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भूमि पूजन संपन्न होने के बाद पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भगवान राम को याद करते हुए एक ट्वीट किया है। बुधवार को उनके ट्वीटर हैंडल पर किए ट्वीट में उन्होंने भगवान राम के स्वरूपों को लेकर लिखा है। यह अलग बात कभी कांग्रेस ने भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल उठाया था और भारत से श्रीलंका को जोड़ने प्राचीन राम सेतु पर सवाल खड़े करते हुए शपथ पत्र भी जारी किया था।

बुधवार को शुभ मुहूर्त में राम जन्मभूमि स्थल पर विधि पूर्वक राम मंदिर का शिलान्यास कार्यक्रम पूरा हुआ, जिसके बाद भगवान राम की बहुप्रतीक्षित भव्य मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। कहा जा रहा है कि भगवान राम के जन्मस्थली पर निर्मित होने वाले भव्य राम मंदिर के निर्माण में करीब 3 वर्ष का वक्त लग सकता है और ऐसा होता है तो वर्ष 2023 में राम मंदिर देश और दुनिया के बड़ा धार्मिक, सांस्कृतिक और पर्यटन का केंद्र बनकर उभरेगा। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में आगे कहते हैं, ‘मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम सर्वोत्तम मानवीय गुणों का स्वरूप हैं, वे हमारे मन की गहराइयों में बसी मानवता की मूल भावना हैं। राम प्रेम हैं, वे कभी घृणा में प्रकट नहीं हो सकते। राम करुणा हैं, वे कभी क्रूरता में प्रकट नहीं हो सकते। राम न्याय हैं, वे कभी अन्याय में प्रकट नहीं हो सकते। माना जा रहा है कि ऐसा पहली बार हुआ है राहुल गांधी ने भगवान राम के बारे कुछ लंबा-चौड़ा कुछ लिखा है। राहुल गांधी यही नहीं रूकते हैं, वो कहते हैं, ‘राम साहस हैं, राम संगम हैं, राम संयम हैं, राम सहयोगी हैं। राम सबके हैं, राम सबमें हैं। भगवान राम सबका कल्याण चाहते हैं, इसीलिए वे मर्यादा पुरुषोत्तम हैं।
वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी भूमि पूजन पर विचार व्यक्त किया है। उन्होंने भूमि पूजन से पहले एक बयान में कहा था कि ‘भगवान राम सबमें हैं और सबके हैं और ऐसे में पांच अगस्त को अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए होने जा रहा भूमि पूजन राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम बनना चाहिए।  अयोध्या में प्रस्तावित राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम के लिए खुद प्रधानमंत्री ने अयोध्या पहुंचकर राम मंदिर की आधार शिला रखी है। इससे पहले, उन्होंने यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ पहले प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा की। इसके बाद वो रामजन्मभूमि के लिए निकले। इस तरह पीएम मोदी रामजन्मभूमि जाने वाले पहले प्रधानमंत्री बन गए हैं, जो करीब 29 सालों बाद अयोध्या गए हैं।

0
0

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.