Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

मकरोनिया नपा के आउटसोर्स कर्मी कलम बंद हड़ताल पर

63


ठेकेदार के मनमाने व्यवहार का विरोध

सागर। मकरोनिया नगर पालिका में आउटसोर्स एजेंसी के तहत काम कर रहे दर्जनों कर्मचारी कलम बंद हड़ताल पर चले गए हैं। उनका कहना है कि उनका वेतन पारदर्शी तरीके से वितरित करते हुए बैंक खातों में जमा किया जाए। साथ ही, हटाए गए कर्मचारियों को वापस लिया जाए।
गुरुवार को नगर पालिका मकरोनिया में आउट सोर्स एजेंसी के तहत काम करने वाले कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं। यह कर्मी दिन भर नपा कार्यालय के सामने बैठे रहे। वहीं इनसे चर्चा के लिए कोई अधिकारी समाचार लिखे जाने तक नहीं पहुंचा था। कलम बंद हड़ताल के बारे में जानकारी देते हुए कर्मचारी विनय कुमार ने बताया कि हम सभी चाहते हैं कि हमारा वेतन ठेकेदार द्वारा ना दिया जाकर नपा प्रशासन द्वारा दिया जाए। जो हमारे बैंक खातों में भुगतान किया जाए। अभी तो आलम यह है कि वेतन में मनमाना व्यवहार ठेकेदार द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कलेक्टर रेट के अनुसार उन्हें महीने में 11 हजार 810 रुपए मिलना चाहिए लेकिन दिए जा रहे हैं केवल 7 हजार 300 रुपए। कर्मचारियों का कहना है कि वेतन वितरण में पारदर्शिता को लेकर नगरपालिका के माध्यम से ही हमें वेतन मिलना चाहिए। वहीं बिना वजह हटाए गए कर्मचारियों को सेवा में वापस लिया जाना भी हमारी मांग है। यह अनिश्चितकालीन हड़ताल है जो मांग पूरी ना होने पर जारी रहेगी। गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से यह कर्मचारी ठेकेदार के खिलाफ कथित आर्थिक शोषण का आरोप लगाते हुए विरोध कर रहे हैं। मनमाने रवैए के कारण कर्मचारियों का कहना है कि वे बेहद परेशान हो चुके हैं और उन्हें शिकायत करने पर कथित रूप से धमकी दी जाती है। इस संबंध में विगत दिनों कर्मचारियों ने मकरोनिया सीएमओ रामचरण अहिरवार को ज्ञापन सौंपा था।
यहां बता दें कि मकरोनिया नगर पालिका में डाटा लिंक सिस्टम एंड सॉफ्टवेयर एजेंसी के माध्यम से करीब 50 कर्मचारी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इनमें महिला कर्मचारी भी शामिल हैं। कोरोना काल के चलते कर्मचारी वैसे भी परेशान हैं और इस पर एजेंसी के ठेकेदार द्वारा मनमाने व्यवहार के आरोप से इस बात की जरूरत है कि नपा प्रशासन इस गंभीर मुद्दे को जल्द ही सुलझाए ताकि कर्मचारियों की समस्या का निराकरण हो सके। साथ ही नगर पालिका में अपने विभिन्न कार्यों के लिए आने वाले लोगों के काम बाधित ना हो।

पवन शर्मा 🖋️

0
0

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.