Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

प्रदेश के किसानों का ब्याज होगा माफ मुख्यमंत्री ने नरयावली विधानसभा के केरबना से किया शुभारंभ

29

मध्यप्रदेश के 11 लाख 19 हजार किसानों की ब्याज राशि माफ करने की योजना का मुख्यमंत्री चौहान ने किया शुभारंभ

योजना से डिफाल्टर किसानों का 2123 करोड़ रू. का ब्याज माफ होगा

मुख्यमंत्री चौहान ने सागर के केरबना समिति के दो किसानों का आवेदन भरकर योजना का किया शुभारंभ

ब्याज माफी से किसान खाद, बीज के लिए पात्र होंगे

सागर जिले के 52 हजार किसानों की 76 करोड़ 79 लाख की राशि माफ होगी

सागर । मध्यप्रदेश के दो लाख रू. तक के ऋण वाले 11 लाख 19 हजार डिफाल्टर किसानों की ब्याज की राशि माफ करने की योजना का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज नरयावली विधानसभा के केरबना गांव से शुभारंभ किया। योजना से किसानों का 2123 करोड़ रू. का ब्याज माफ होगा। सागर के प्राथमिक सहकारी साखा समिति केरबना के दो किसानों पंचमलाल और जुगरेन्द्र झल्लू का आवेदन खुद मुख्यमंत्री ने भरकर मुख्यमंत्री कृषक ब्याज माफी योजना का शुभारंभ किया। योजना के तहत जिला सहकारी केन्द्रीय बैंको से संबध्द प्राथमिक कृषि साख समितियों के दो लाख रू. तक के फसल ऋण वाले डिफाल्टर किसानों के ब्याज की राशि माफ की जाएगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि ब्याज माफी की इस राशि का भुगतान सरकार द्वारा किया जाएगा। सागर जिले के 51 हजार 910 किसानों के ब्याज की राशि 76 करोड़ 79 लाख रू. माफ की जाएगी। माफ किए गए ब्याज की प्रतिपूर्ति राज्य सरकार द्वारा की जाएगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पूर्व सरकार के समय वर्ष 2018 में ऋणमाफी की उम्मीद में हजारों किसान डिफाल्टर हो गए और खाद बीज लेने से वंचित हो गए। ऐसे दो लाख रू. तक के फसल ऋण वाले किसानों की पीडा को राज्य सरकार ने समझा है और ब्याज माफी का निर्णय लिया है। आज से प्रदेश की करीब साढे़ चार हजार समितियों में ब्याज माफी के आवेदन भरने का कार्य शुरू हो गया है। ब्याज माफी से किसान खाद बीज के लिए पात्र हो जाएंगे और उन्हें शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि शून्य प्रतिशत का मतलब किसान से राशि नहीं लेना है, पर इस राशि की भरपाई सरकार द्वारा की जाती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार किसानों की सरकार है और हर दुख दर्द में किसानों के साथ खड़ी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अलग-अलग योजनाओं के अंतर्गत किसानों के खातों में 2 लाख 31 हजार 322 करोड़ की राशि किसानों के खातों में डाली गई है। इनमें बिजली की सब्सिडी, फसल बीमा योजना की प्रीमियम राशि, शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण की राशि, किसान सम्मान निधि, सोलर पंप सब्सिडी आदि शामिल है।

सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया ने कहा

कार्यक्रम में सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया ने कहा कि पूर्व सरकार की कर्ज माफी की घोषणा के कारण किसान डिफाल्टर हो गए और उन्हें खाद, बीज न मिलने से परेशानी होने लगी थी। किसानों की परेशानी को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समझा और केबिनेट में फसल ऋण के कर्ज माफी का निर्णय लिया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 11 लाख से अधिक किसानों के फसल ऋण ब्याज की करीब 2200 करोड़ की राशि का भुगतान राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा। सागर जिले के 52 हजार किसानों को इस योजना का लाभ मिलेगा। कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि सोसाइटी किसानों की अंश पूंजी से बनती है और जितनी राशि के ऋण माफ किए जाते है उतनी ही राशि का भुगतान सरकार द्वारा किया जाता है।

विधायक प्रदीप लारिया ने कहा

कार्यक्रम को विधायक श्री प्रदीप लारिया ने भी संबोधित किया। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि नरयावली विधानसभा क्षेत्र के केरबना गांव से सरकार की महात्वकांक्षी योजना का शुभारंभ हुआ है। इस योजना को लेकर विधायक प्रदीप लारिया ने मुख्यमंत्री का आभार भी व्यक्त किया।

इस अवसर पर सहकारिता, लोक प्रबंधन एवं सागर जिले के प्रभारी मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया, लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह, राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, सांसद राजबहादुर सिंह, नरयावली विधायक प्रदीप लारिया, बीना विधायक महेश राय, भाजपा जिला अध्यक्ष गौरव सिरोठिया, लता वानखेडे़, संभागायुकत वीरेन्द्र सिंह रावत, आई.जी. प्रमोद वर्मा, पंजीयक सहकारी संस्थाएं आलोक सिंह, कलेक्टर दीपक आर्य, पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी, प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश राज्य सहकारी बैंक पी.एस. तिवारी, उपायुक्त सहकारिता पीआर कबड़कर और बडी संख्या में किसान उपस्थित थे।

0
0

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.