सागर

स्वंय को हाईकोर्ट का स्टेनो बताकर हाईकोर्ट में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाली महिला को किया गिरफ्तार

सागर पुलिस अधीक्षक महोदय अतुल सिंह को पीड़ित कुलदीप दुबे ने शिकायत आवेदन दीया की स्वेता तिवारी नामक महिला से विगत 02 माह पूर्व फेसबुक के माध्यम से मित्रता हुयी थी जिसमें स्वेता तिवारी ने स्वयं को हाईकोट में स्टैनो होना बताया एवं हाईकोर्ट में नोकरी दिलाने का बताया, जिसमें आवेदक स्वयं बेरोजगार
होने के कारण महिला के झांसे में आकर स्वेता तिवारी के द्वारा बाताये अनुसार खाते में 18 हजार रूपये जमा कर दिये एवं स्वेता तिवारी द्वारा और पैसों की मांग की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक महोदय अतुल सिंह द्वारा उक्त प्रकरण में शीघ्र कार्यवाही किये जाने निर्देश जारी किये गये अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सागर प्रवीण भूरिया एवं उप पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) दिव्या राजावत के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी सिविल लाईन निरी0 उपमा सिंह के नेतृत्व में सायबर नोडल थाना एवं थाना सिविल लाईन की सयुक्त टीम का गठन किया गया।

प्रकरण में उपरोक्त टीम द्वारा तकनीकी साक्ष्य एकत्रित कर प्रकरण की आरोपिया गण को (1) स्वेता तिवारी पिता रंजनीश तिवारी एवं (2) सोनलिका तिवारी
को गिरफ्तार किया एवं आरोपिया के समक्ष से घटना में प्रयुक्त बैंक खातों को जप्त किया गया पुलिस द्वारा पूछताछ में पाया की उक्त आरोपिया द्वारा मध्य प्रदेश के
अलग-अलग जिलो से कई व्यक्तियों को नोकरी दिलाने के नाम पर ठगा है।

आरोपी को पकड़ने में थाना प्रभारी उपमा सिंह, सायबर नोडल थाना प्रभारी उप निरीक्षक भूपेन्द्र विश्वकर्मा आर. अमित शुक्ला, महिला आरक्षक सोनम यादव एवं थाना सिविले लाईन से आरक्षक नोवत एवं महिला आरक्षक मनीषा एवं सायबर सेल से आरक्षक अमर तिवारी की मुख्य भूमिका रही।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
%d bloggers like this: